Tadpa Aur Raa | DILKASH SHAYARI

Tadpa Aur Raa

 

तडपा और रात जागा भी, तेरी आँखें सारा हाल-ए-दिल बयान करती हैं.!   तुझ से प्यार करती तय, तू  भी  दिल  ही  दिल में मेरी आरज़ू करता है.!!

Tadpa Aur Raat Jaga Bhi, Teri Aankhein Sara Hal-e-Dil Bayan…

Source: तू भी मेरी आरज़ू करता है.!! | DILKASH SHAYARI

Advertisements

5 thoughts on “Tadpa Aur Raa | DILKASH SHAYARI

Comments are closed.